Skip to main content

वजन बढ़ाने के कुछ आसान तरीके How to gain weight in Hindi ?

वजन बढ़ाने और मोटा होने के सरल उपाय-How to gain weight in Hindi ?




नमस्ते दोस्तों कैसे हैं आप सब लोग ? तो आइए आज हम बात करते हैं की अपने शरीर के वजन को कैसे बढ़ाया जा सके. ज्यादातर लोग और नौजवान आजकल कमजोरी और दुबलेपन के शिकार होते जा रहे हैं और शरीर में थकान आदि उन्हें जल्दी ही लगने लगती हैं.
अपने आपको आईने में देखकर हीन भावना करने लगते है और समय-समय पर अपने दोस्तों और लोगों       के बीच मजाक का शिकार बने रहते है इसलिए Self-Confidence आत्म विश्वास भी धीरे-धीरे ख़त्म होता जाता रहता है.
आपने देखा होगा की Youtube या कही लेखन (Article) में ज्यादातर लोग यह दावा करते रहते है की 15 दिनों में ही 15-20 किलो वजन बढ़ाये और कही कही तो यह भी दावा करके बोलते है की केवल 7 दिनों में ही अपना वजन 10-15 किलो बढ़ाये. 

तो आपलोग खुद ही बताए की यह सब क्या मुमकिन हो सकता हैं जरा सोचिए तो ? आपलोग खुद ही अच्छी तरह से जानते हैं की यह सब फर्जी बातें हैं. इस तरह से आपको बेवकूफ बनाने की नाकाम कोशिस की जा रही हैं। ऐसी ऐसी फर्जी बातो पर आपलोगो को बिलकुल भी ध्यान नहीं देना चाहिए.
आत्म विश्वास(confidence) - पहले तो आप अपने आप…

एक दिन में ही कब्ज से मुक्ति- constipation



यह कब्ज क्या होती है, जो हमें परेशान करती रहती है, रोज सुबह पेट साफ नहीं हो पाता है, रोज रात को चुराण लेना पड़ता है, आखिर किस वजह से होती है यह कब्ज? क्या इससे बचने का कोई उपाय होगा? आपलोगो का भी कुछ ऐसे ही सवाल होंगे कब्ज के वजह से | में आपलोगो का हर सवाल का जवाब देनेवाला हु और इस समस्या से कैसे बचे वो भी बताने वाला हूँ |





कब्ज ठीक करे 





आइए अब जानते है की कब्ज क्या होती है -(Now let us know what is constipation)-

कब्ज एक ऐसी बीमारी होती है जो अन्य बीमारियां पैदा करने में बड़ा योगदान देती है और कब्ज वो है जो सुबह में हमारा पेट साफ नहीं हो पाता है, 2 या 3 दिन में एक बार हो पाता है और यह कब्ज ज्यादा दिन पेट में बना रहा तो अत्यधिक बदबूदार वाली हो जाती है जो हमारी सेहत के लिए बहुत घातक साबित होती है और इससे अनेको बीमारी पैदा हो जाती है  |

 पहले यह 6 लक्षण (Symptoms) कब्ज  के -

1. एक सप्ता में 3 बार से कम मॉल त्यागना |
2. मॉल को बाहर निकलने मे कठिनाई या दर्द होना|
3. मॉल को बहार निकल ने के लिए दबाब की आवश्यकता होना|
4. पेट का पूर्ण रूप से खाली न होना महसूस होना|
5. पेट में सूजन या गैस होना |
6. जी मचलाना भूख में कमी होना| 



अब कैसे पता करे की आपको कब्ज (constipation) है या नहीं -

  •  गठदर और गला होतो यह हल्का कब्ज है |
  • अगर बेलनाकार सतह पर दरारे होतो यह नार्मल कब्ज है |
  • अगर सांप जैसा चिकना होतो यह भी नार्मल कब्ज है |
  • स्पस्ट कीनारे के साथ नरम बुँदे होतो - तो यह रेसा (fiber) की कमी की वजह से है  | 
  • अगर टुकड़े टुकड़े कटे किनारे है तो - तो हल्का दस्त है  |
  • अगर पानी जैसा होतो- तो यह पूरा दस्त है |  
  • अगर मॉल अलग कठोर गत का है तो यह खतरनाख कब्ज है |  




आखिर किस वजह से यह कब्ज हमारी शरीर में हो जाता है (After all, why is this constipation in our body)-


लोग न जाने दिन भर में क्या क्या और कैसी कैसी चीज़े खा लेते है, और अपना दिनचर्या ठीक से पालन भी नहीं कर पाते है इसलिए ज्यादातर लोगों में कब्ज की शिकायत मिलती रहती है | यहाँ तक यह भी देखा गया है की लोग सुबह शौच जाते  समय पेट साफ करने के लिए धूम्रपान जैसे -सिगरेट, बीड़ी जैसी हानिकारक चीज़ो का प्रयोग करने लगते है जो शरीर के लिए अत्यधिक हानिकारक साबित हो जाती है|

खाना तो हम खा लेते है लेकिन उसका पचना बहुत जरुरी हो जाता है | अगर खाना पेट के अंदर अच्छे  नहीं पचे   तो बड़ी आंतो में मॉल के रूप में चिपक जाता है और यह धीरे धीरे कब्ज का रूप ले लेती है और लोग धीरे धीरे  बीमारियों के चपेट में आ जाते है |


 कुछ कारन है जो निचे हमने दिए है   -----

• पानी कम पीना |
• आहारऔर डाइट सही नहीं होना |
• शारीरिक निष्क्रियता |
• दबाई ज्यादा होना |
• बरती उम्र |
• गर्भावस्था |
• सर्जरी |


कुछ भोजन के वजह से भी कब्ज हो जाती है वो भोजन है -

• कम फाइबर वाला आहार |
• उच्च वासा वाले आहार लाल मांस |
• डायरी (दूद हज़म न होना ) |
• तले हुवे खाद्य पदार्थ -चिप्स, पूरी, पराठा |
• कच्चा केला |
• चॉकलेट |
• बर्गर-पिज़्ज़ा |


दबा जो कब्ज को बढ़ाये -

• आयरन टेबलेट्स |
• कैल्शियम टेबलेट्स |
• यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन |
• उच्च रक्तचाप रोधी |
• नारकोटिक्स |


रोग जो कब्ज पैदा करे -


तंत्रिका बिकार |
दिमाग की चोट |
मधुमेह |
गुर्दे की बीमारी |
डिप्रेशन |
थाइराइड |
• पेट का कैंसर |



 कब्ज से होने वाली बीमारियां (Diseases caused by constipation)-






 पहले तो कब्ज होने से बेहवजह दिनभर थकान, सर दर्द करना, बुखार जैसा लगना, गुस्सा पन यह सब लक्षण होती है | बाद में कब्ज आपको जटिल बीमारियों का शिकार बना सकता है, कब्ज से आपको जी मचलाना, पेट में दर्द होना, मन अशांत होना, कुछ भी अच्छा न लगना, लिवर का समस्या होना, बदन दर्द करना यह सब बीमारिया हो सकती है|  जो यह सब मैंने बचपन में भोगा है |

सोच करते समय खून आना, वजन काम होना, भूख न लगना यह सब बीमारियां नजर आ जाती है | मुंह से बदबू आना,चहेरा पर दाने निकल आना, कब्ज  होने से उम्र से ज्यादा उम्र का दिखना, कब्ज होने से चहेरे की रौनक  फीकी पड़ जाती है| कब्ज की वजह से आँखों की रौशनी भी कमजोर हो सकती है, कब्ज आपका उम्र को भी  कम कर देता है, याददास भी कमजोर के देती है |





कब्ज के कारन कुछ मुख्या बीमारिया    -

• बवासीर
• नासूर
• आँतों की रूकावट या घाव
• पेट का कैंसर



आईये दोस्तों अब बात करते है की यह परेशान करने वाली कब्ज से कैसे हमेशा हमेशा  के लिए मुक्ति पाए( Come on guys, now let's talk about how long this troublesome freedom forever) -



ठीक करे दिनचर्या 


सबसे पहले तो आपको रात में हल्का खाना खाके बिलकुल 10 बजे के आस पास सो जाना है और सुबह में ब्रम्ह  मुहूर्त को बिस्तर को छोड़ देना है, उसके बाद आपको 4 गिलास हल्का गरम पानी पीना है, पानी पिने के बाद  आप कम से काम 2 से 3 किलोमीटर पैदल चले और 30 मिनट या 1 घंटा घूमके आने के बाद आप घर पे आके  आमला एलोवेरा का जूस पीजिये और उसके बाद आपको शौच जाने के लिए मजबूर होना पड़ेगा |
अगर आप नियम पुर्बक योग आसन आदि करेंगे तो आपको बहुत ही फायदा नज़र आएगा | और जंक फ़ूड को बंद करके आप यह सब नियम पालन करे तो कभी भी कब्ज की शिकायत नहीं होगी यह वादा रहा आपसे |


पेट सफा तो हर रोग दफा 



भगवान से प्राथना है की आपको हमेशा खुश और निरोगी रखे 







                                                                     धन्यवाद 

Comments

Popular posts from this blog

वजन बढ़ाने के कुछ आसान तरीके How to gain weight in Hindi ?

वजन बढ़ाने और मोटा होने के सरल उपाय-How to gain weight in Hindi ?




नमस्ते दोस्तों कैसे हैं आप सब लोग ? तो आइए आज हम बात करते हैं की अपने शरीर के वजन को कैसे बढ़ाया जा सके. ज्यादातर लोग और नौजवान आजकल कमजोरी और दुबलेपन के शिकार होते जा रहे हैं और शरीर में थकान आदि उन्हें जल्दी ही लगने लगती हैं.
अपने आपको आईने में देखकर हीन भावना करने लगते है और समय-समय पर अपने दोस्तों और लोगों       के बीच मजाक का शिकार बने रहते है इसलिए Self-Confidence आत्म विश्वास भी धीरे-धीरे ख़त्म होता जाता रहता है.
आपने देखा होगा की Youtube या कही लेखन (Article) में ज्यादातर लोग यह दावा करते रहते है की 15 दिनों में ही 15-20 किलो वजन बढ़ाये और कही कही तो यह भी दावा करके बोलते है की केवल 7 दिनों में ही अपना वजन 10-15 किलो बढ़ाये. 

तो आपलोग खुद ही बताए की यह सब क्या मुमकिन हो सकता हैं जरा सोचिए तो ? आपलोग खुद ही अच्छी तरह से जानते हैं की यह सब फर्जी बातें हैं. इस तरह से आपको बेवकूफ बनाने की नाकाम कोशिस की जा रही हैं। ऐसी ऐसी फर्जी बातो पर आपलोगो को बिलकुल भी ध्यान नहीं देना चाहिए.
आत्म विश्वास(confidence) - पहले तो आप अपने आप…

यह सब न खाए एक साथ

नमस्कार दोस्तों हमारे इस ब्लॉग स्वस्थ जीवन में आपका स्वागत है| आज हम आप लोगों को आयुर्वेद के अनुसार बताने जा रहे हैं की, कुछ ऐसी ऐसी खाद्य चीज़े हमारे जीवन में होती है जो एक साथ सेवन करने से हमारे स्वास्थ में बहुत गंभीर समस्या या रोग उत्पन्न कर सकती है |

आइएअबजानतेहैकीवोक्याक्याचीज़ेहैजोएकसाथखानेसेहमेंबीमारकरसकतीहै - 


1 . नखाएंचायया, कॉफीकेतुरंतबादयापहलेयहचीजें - 



स्वस्थ शरीर के लिए दिनचर्या

नमस्कार दोस्तों कैसे है आप, आसा करता हु की अच्छे होंगे | आज में आपके लिए स्वस्थ शरीर, निरोग और मजबूत बनाने के लिए वो दिनचर्चा के बारे में बताने जा रहा हु, जो में खुद फॉलो करता हु और उसी के फायदे के बारे में आपको बताने जा रहा हु | सुबह, दिन और रात में क्या क्या खाना पीना है वो भी बताने जा रहा हु, आप यकीन नहीं करेंगे की इस दिनचर्चा से आपका शरीर कितना शक्तिसाली और मजबूत बनजाता है और कोई भी बीमारी नहीं लगती है |



आइए अब जानते हैं कि वह क्या-क्या दिनचर्या है जो हमें फॉलो करने से हमारा शरीर रोगमुक्त और शक्तिशाली बन जाता है(Let us now know what are the routines that our body becomes disease-free and powerful by following us.) :-

सबसे पहले आपको रात को जल्दी 10 बजे के आस पास सोना है, और सुबह सूरज उगने से 30 मिनिट पहले अपना बिस्तर छोड़ देना है|
उसके बाद आपको बिना मंजन किये बैठ कर 3 से 4 ग्लास पानी पीना है, उसके बाद आप मंजन कर सकते है | मंजन करने के बाद आप टहल ने को या हल्का दौड़ने को जा सकते है, हल्का दोड़ने के बाद आपको 5-7 मिनिट बिसराम करके हल्का व्यायाम और प्राणायाम करना है| उसके 15 मिनिट बाद आप …